मोटापा घटाने में मददगार दालचीनी

नवम्बर 24, 2017
Contact: umichnews@umich.edu

Cinnamon sticks tied in a bundle. (stock image)

ऐन आर्बर- मिशिगन यूनिवर्सिटी के जीवन विज्ञान संस्थान के नए शोध ने निर्धारित किया है कि मोटापा के खिलाफ लड़ाई में दालचीनी को कैसे शामिल किया जा सकता है। वैज्ञानिकों ने अपने शोध में पाया कि दालचीनी में सिनेमेलडीहाइड नामक एक तैलीय पदार्थ पाया जाता है जो मोटापा घटाने के साथ ही रक्त में बढ़ते ग्लूकोज की मात्रा को भी नियंत्रित करता है।

वैज्ञानिकों ने पहले यह पाया था कि दालचीनी को स्वाद देने वाला एक आवश्यक तेल सिनामाल्डिहाइड, मोटापा और हाइपरग्लेसेमिया के खिलाफ चूहों की रक्षा करता देखा गया। लेकिन प्रभाव के तंत्र को अच्छी तरह से समझा नहीं गया था।

एलएसआई में अनुसंधान सहायक प्रोफेसर जून वू के लैब के शोधकर्ता सिनामाल्डिहाइड की कार्रवाई को बेहतर ढंग से समझना चाहते थे और यह निर्धारित करना चाहते थे कि यह मनुष्यों में भी सुरक्षा कर सकता है या नहीं।

जुन वु ने कहा, ‘शोध में सामने आया कि सिनेमेलडीहाइड मेटाबॉल्जिम (शरीर में होने वाली रासायनिक क्रियाएं जैसे-पाचन) पर असर डालने के साथ चर्बी कम करने में मदद करता है। हम इस प्रक्रिया को बेहतर समझने की कोशिश कर रहे है।’
यह स्टडी मेटाबोलिज्म जर्नल में प्रकाशित हुई है, इसके अनुसार, शरीर की कोशिकाओं का सिनेमाल्डिहाइड द्वारा इलाज करने से मेटाबोलिज्म बेहतर होता है।

वू और उनके सहयोगियों ने एडिटॉसाइट्स का परीक्षण वालंटियरयो में किया, जो कि कई उम्र, जातीयता और बॉडी मास इंडेक्स से थे। जब कोशिकाओं को सिनामाल्डेहाइड के साथ इलाज किया गया, तो शोधकर्ताओं ने लिपिड मेटाबॉल्जिम को बढ़ाने वाले कई जीन और एंजाइमों की वृद्धि पर गौर किया। इससे शरीर में Ucp1 एंड Fgf21 नाम के 2 जरूरी मेटाबोलिक प्रोटीन का स्तर बढ़ जाता है, जो फैट सेल्स द्वारा एनर्जी को बर्न करने की प्रक्रिया में मददगार साबित होते हैं.

एडिपोसाइट्स आमतौर पर ऊर्जा को लिपिड के रूप में संग्रहीत करता हैं। यह हमारे दूर के पूर्वजों के लिए फायदेमंद था, जो उच्च फैट वाले खाद्य पदार्थों को वसा पर संग्रहित करके ठंड में इस्तेमाल करते थे। कम तापमान में एडिओपॉइटेस में संग्रहीत ऊर्जा को गर्मी में परिवर्तित करता था।

बढ़ती मोटापे के साथ, वू जैसे शोधकर्ताओं ने थर्मोनेसिस को सक्रिय करने के तरीकों की तलाश कर रहे है, जो फैट जलाने वाले प्रक्रियाओं को फिर से बदल सकता हैं।

अब, इससे पहले कि किसी मिठाई में अतिरिक्त दालचीनी डाले, वू की चेतावनी हैं कि प्रतिकूल दुष्प्रभावों के बिना सिनामाल्डिहाइड के लाभों के आगे अध्ययन की आवश्यकता है।

इस शोध को मानव फ्रंटियर साइंस प्रोग्राम, एडवर्ड मल्लिक्करोड जूनियर फाउंडेशन, नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ और अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन द्वारा समर्थित किया गया था।

अध्ययन के अन्य लेखक थे: यू-एम के जुआन जियांग, मार्गो इमॉन्ट, हेजिन जून, ज़ियाओना क़ियाओ, जिलिंग लियाओ और दोंग-आईएल किम।

इस अध्ययन का शीर्षक है “सिनामाल्डिहाइड ने वसा कोशिका-स्वायत्त थर्मोजेनेसिस और मेटाबोलिक रिप्रोग्रामिंग,” DOI: 10.1016 / जे.एमटीबोोल .2017.08.006।

अधिक जानकारी:

अध्ययन सार