सौर मंडल बनने से पहले पृथ्वी में था पानी

सितम्बर 26, 2014
Contact: umichnews@umich.edu

मिशिगन विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने पृथ्वी के पानी का आधा करने के लिए सूर्य से अधिक पुराना है कि theorized है. यह संभावना हमारे सौर मंडल पैदा की है कि ठंड आणविक बादल में गठन किया. छवि क्रेडिट: विधेयक Saxton, NSF / AUI / NRAOमिशिगन विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने पृथ्वी के पानी का आधा करने के लिए सूर्य से अधिक पुराना है कि theorized है. यह संभावना हमारे सौर मंडल पैदा की है कि ठंड आणविक बादल में गठन किया. छवि क्रेडिट: विधेयक Saxton, NSF / AUI / NRAOएन आर्बर: धरती पर आधे के अधिक पानी सौर प्रणाली से भी पुराना है, यूनिवर्सिटी ऑफ़ मिशिगन खगोलविदों का सिद्धांत है।

साइंस के ताजा अंक में प्रकाशित शोधकर्ताओं का काम हमारे ग्रह और सौर मंडल के पानी के गठन के बारे में एक बहस सेटल करने में मदद करता है। शोधकर्ताओं के लिए यह सवाल अनुत्तरित है कि सूर्य को घेरे प्रोटोप्लानेटरी डिस्क (सौर निहारिका-इसी से ग्रहों की उत्पत्ति मानी जाती है।) में “इंटरस्टेलर आइस”सूर्य के अभिभावकीय ग्रह और तारों के बीच मौजूद हाइड्रोजन घनत्व से जन्मा या इस घनत्व में हुई रासायनिक क्रियाओं से उत्पन्न हुआ।

30 से 50 प्रतिशत आणविक बादल से आया, यूनिवर्सिटी ऑफ़ मिशिगन में डॉक्टरेट की छात्र इल्स क्लीव्स कहती हैं। इसके अनुसार पानी सौर प्रणाली की तुलना में लगभग एक लाख साल पुराना हैं।

क्लीव्स अौर बरगीन ने, जो खगोल विज्ञान के प्रोफेसर हैं, अनुमान पर पहुंचने के लिए सौर मंडल के गठन की केमिस्ट्री को सिम्युलेट किया।

उन्होनें पानी के दो अलग किस्मों के पर फोकस किया – सामान्य प्रकार के और भारी संस्करण। धूमकेतु और पृथ्वी के महासागर में विशेष अनुपात में – सूरज से अधिक – भारी पानी हैं।

“रसायन विज्ञान के अनुसार पृथ्वी को बहुत ठंडे स्रोत से पानी की एक योगदान प्राप्त हुआा जो शून्य से १० डिग्री से ऊपर था। सूरज ने, जो काफी गरम है, इस ड्यूटेरियम, या भारी पानी के फिंगरप्रिंट को मिटा दिया गया है ,” बरगीन ने कहा।

सौर प्रणाली के सिमुलेशन को शुरू करने के लिए, वैज्ञानिकों ने घड़ी को वापस घुमा कर भारी पानी को खाली का दिया। फिर बटन दबा कर यह देखने की कोशिश की कि क्या पृथ्वी और धूमकेतु में पानी का अनुपात कैसा हैं।

क्लीव्स ने कहा, “हम केमिस्ट्री को एक लाख साल विकसित होने दिया – यह ग्रह के गठन डिस्क बनने का समय हैं – और पाया कि डिस्क की रासायनिक प्रक्रियाओं सौर प्रणाली में भारी पानी बनाने में अक्षम थी। “इसका तात्पर्य यह हैं कि अगर ग्रहों के डिस्क ने पानी नहीं बनाया तो यह विरासत में मिला। सौर प्रणाली का कुछ पानी सूरज से पहले मौजूद था।”

पृथ्वी पर जीवन पानी पर निर्भर करता है। पानी का अनुमान लगाने से वैज्ञानिकों को आकाशगंगा भर में पानी कितना आम समझने में मदद मिलेगी।

“यह निष्कर्ष बहुत रोमांचक हैं,” क्लीव्स ने कहा। अगर पानी गठन हर तारकीय सिस्टम में स्थानीय प्रक्रिया से होता है तो जीवन के गठन के लिए आवश्यक पानी और अन्य महत्वपूर्ण रासायनिक अवयवों की मात्रा हर प्रणाली के लिए भिन्न हो सकती है।

बरगीन ने कहा, ” हमारे सिमुलेशन और खगोलीय समझ के आधार पर हाइड्रोजन और ऑक्सीजन परमाणुओं से पानी का गठन तारकीय जन्म के प्रारंभिक दौर का एक सर्वव्यापी घटक है। “यह पानी शून्य से केवल 10 डिग्री पर स्टार के जन्म से पहले बनता हैं अौर हर नवजात तारकीय प्रणालियों को प्रदान िकया जाता है। “

संबंधित लिंक:

टेड बरगीन: http://dept.astro.lsa.umich.edu/~ebergin/Teds_Home_Page.html
इल्स क्लीव्स: http://dept.astro.lsa.umich.edu/~cleeves