खराब रिपोर्ट कार्ड: क्या माता-पिता कठोर हैं?

अगस्त 28, 2015
Contact: umichnews@umich.edu

खराब रिपोर्ट कार्ड: क्या माता-पिता कठोर हैं?ऐन आर्बर- नये स्कूल वर्ष शुरू होने से पहले बच्चों के माता पिता के लिए एक पॉप क्विज है: अगर आपका बच्चा खराब रिपोर्ट कार्ड घर लाता है तो जब आप क्या करेगें?

A. बच्चे को लेक्चर देंगे।
B. उसके खेल या क्लबों में भाग लेने वाले गतिविधियों को प्रतिबंधित करेंगे ।
C. घर में एक माहौल बनायेंगे जिससे अध्ययन को प्रोत्साहन मिलेगा।

मिशिगन यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं के अनुसार मिडिल स्कूल में बच्चों के माता-पिता को C चुनना चाहिये क्योंकि हाई स्कूल में इससे उँची साक्षरता और गणित उपलब्धि का परिणाम मिल सकता है।

बच्चे को लेक्चर या दंड देने से या गतिविधियों को सीमित करने से शैक्षिक उपलब्धि कम हो जाती हैं। यह खोज इस धारणा को चुनौती देता है कि माता-पिता के कठोर दृष्टिकोण से ऊची शैक्षिक उपलब्धि हो सकती है।

“दंडात्मक पेरन्टिंग नितियाँ अप्रभावी हो सकती हैं जब तक मूल समस्या का समाधान नहीं होता हैं,” अध्ययन की लीड लेखीका सैंड्रा तांग ने कहा जो यू- ऐम के मनोविज्ञान विभाग में रिसर्च फेलो है।

जब घरों में सीखने का माहोल हो और बच्चों और माता-पिता के बीच प्रोत्साहन का वातावरण हो, तो बच्चे बेहतर प्रदर्शन करते हैं, अध्ययन से पता चला है। इन घरों में माता-पिता नियमित रूप से अपने बच्चों से बात करते हैं, किताबें और खिलौने देते हैं और सीखने के लिए और अधिक संसाधन और अवसर देते है।

तांग और अध्ययन की सह लेखिका पामेला डेविस-कीन, जो मनोविज्ञान और सामाजिक अनुसंधान और मानव विकास केंद्र में प्रोफेसर हैं, ने जांच की कि माता पिता अपने बच्चे की शैक्षणिक प्रगति पर कैसी प्रतिक्रिया करते हैं और पाँच सालों बाद उसका उनके स्कूल के काम पर कैसा प्रभाव पडता है।

अध्ययन के लिए डेटा आय डाइनैमिक्स, अमेरिका परिवारों से सामाजिक आर्थिक और स्वास्थ्य के एक अनुदैर्ध्य अध्ययन पैनल से आया। अध्ययन में 11-13 और 16-18 उम्र से करीब 500 बच्चों शामिल थे।

माता-पिता ने घर के माहौल का वर्णन किया और फिर बच्चे के ग्रेड पर उनकी प्रतिक्रिया पर सवालों के जवाब दिए। जवाब को दो श्रेणियों में बाँटा गया – दंडात्मक और सक्रिय।

खराब प्रदर्शन करने पर बच्चे के गतिविधियों को सीमित करना तब उपयोगी होगा जब वो स्कूल के काम पर काफी समय नहीं बिता रहा हो, लेकिन अगर बच्चे को गणित की समस्या को कैसे हल करे, यह समझ में नहीं आता है तो यह दंड लाभदायक नही होगा, शोधकर्ताओं का कहना है।

“बच्चे को दंड या लेक्चर देने से उसके ग्रेड में सुधार नहीं होगा,” डेविस-कीन ने कहा।

अनुशासन या दंड की कार्रवाई किशोरों में स्कूल के बारे में नकारात्मक भावनाये ला सकता है।

तांग और डेविस-कीन का सुझाव है कि माता-पिता को आकलन करना चाहिए कि स्कूल में खराब प्रदर्शन का क्या कारण है।

बच्चे की शैक्षणिक खराब प्रदर्शन के जवाब में उपयोग करने के लिए क्या parenting रणनीति पर निर्णय लेने से पहले एक सीखने मुद्दे के बजाय एक व्यवहार मुद्दे का एक परिणाम है, तो ।

इसके अलावा शिक्षक भी के ग्रेड के साथ टिप्पणी दे सकते हैं जिससे माता-पिता भी बच्चे के प्रदर्शन के पीछे के कारणों को समझ सकते हैं।

यह निष्कर्ष जर्नल आफ फैमिली साइकोलॉजी के नये अंक में प्रकाशित होंगे: myumi.ch/L1pZZ

अधिक जानकारी:

सैंड्रा तांग
पामेला डेविस-कीन