“स्टेम” से माता-पिता ने लड़कियों मे विज्ञान की डिग्री को बढ़ावा दिया

दिसम्बर 22, 2017
Contact: umichnews@umich.edu

एक पिता अपनी बेटी के साथ एक रोबोट का निर्माण (स्टॉक छवि)

एन आर्बर- जब लड़कियाँ मानकीकृत गणित परीक्षणों में लड़कों जैसी प्रदर्शन करती है, फिर भी उनके कॉलेज में विज्ञान चुनने की संभावना लड़कों के मुकाबले आधी हैं।

लेकिन स्टेम (विज्ञान, प्रौद्योगिकी, इंजीनियरिंग या गणित) क्षेत्र में एक माता-पिता या संरक्षक के होने से लड़कियाँ गणित में बेहतर प्रदर्शन करती हैं और उनकी कॉलेज में इंजीनियरिंग, आर्किटेक्चर, गणित और कंप्यूटर विज्ञान जैसे “हार्ड साइंस”की डिग्री में दाखिला लेने की संभावना अधिक होती है।

मिशिगन यूनिवर्सिटी और आर्कान्सा विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं के एक अध्ययन के मुताबिक यह प्रभाव लड़कों के मुकाबले लड़कियों के लिए अधिक है।

“एक महत्वपूर्ण परिणाम यह है कि ‘हार्ड साइंस’ कॉलेज की डिग्री दर्ज करने की संभावना पर एक माता पिता के स्टेम में होने से सकारात्मक प्रभाव लड़कियों में केंद्रित किया जा रहा है। यह मेरे बाकी काम से जुडा हैं और महिलाओं पर रोल मॉडलिंग के संभावित लाभ के दिखाता हैं, “जेमा ज़मररो ने कहा जो शोध की प्रमुख लेखक और अर्कांसस में एक सहयोगी प्रोफेसर है। “हमारे परिणाम बताते हैं कि कई अतिरिक्त बाधाएं हैं- गणित प्रदर्शन या कथित गणित की क्षमता के अलावा- जो महिलाओं को STEM में प्रवेश करने से रोकता है।”

इनमें से कुछ बाधाएं लैंगिक रूढ़िवाणियां हो सकती हैं जो लड़की के माता-पिता को स्टेम क्षेत्र में होने से तोड़े जा सकते है, तो ज़माररो ने कहा।

शोधकर्ताओं के मुताबिक, महिलायें सभी नौकरियों में 48 प्रतिशत हिस्सेदारी रखने के बावजूद स्टैम्स नौकरियाे मे 25 प्रतिशत हिस्सेदारी रखती हैं।

यू-एम इंस्टीट्यूट फॉर सोशल रिसर्च के सह-लेखक और एक अर्थशास्त्री फ्रैंक स्टैफोर्ड ने कहा, “यह निष्कर्ष सिर्फ शैक्षिक अनुसंधान के लिए महत्वपूर्ण नहीं है: यह अर्थव्यवस्था का हिस्सा है जो लोगों को समायोजित करना शुरू कर रहा है।”

2004 में, शोधकर्ताओं ने बच्चों से गणित करने और एक परीक्षा के साथ-साथ, अपने गणित कौशल पर अपनी धारणा को आकलन करने के लिए कहा। स्टैफोर्ड के मुताबिक, लड़कों ने परीक्षाओं में, लड़कियों की तुलना में, उच्चतर स्कोर किया, लेकिन स्कोर के बीच का अंतर छोटा था।

लड़कों ने खुद को लड़कियों की तुलना में मैथ मे बेहतर रेट किया। 66 प्रतिशत लड़कों की तुलना में 50 प्रतिशत लड़कियों ने, जिंहोने गणित की परीक्षा के उच्च प्रदर्शन किया, गणित में खुद को उच्चतम स्तर स्कोर दिया।

शोधकर्ताओं ने इन छात्रों को फिर से 2014 में यह देखने के लिए ट्रैक किया कि वे कॉलेज में क्या विषयों लेते हैं। जब लड़कों ने गणित क्षमताओं के उच्चतम स्तर की सूचना दी, तो हार्ड साइंस क्षेत्र में पढ़ाई की उनकी संभावना 7 प्रतिशत से बढी। जब लड़कियों ने यह सूचना दी, तो एक विज्ञान प्रमुख की उनकी संभावना केवल 2 प्रतिशत से बढी।

“कॉलेज में विज्ञान के क्षेत्र में जाने वाले लड़कों और लड़कियों के बीच सबसे बड़ा अंतर लड़कियों के बीच है जो आसानी से विज्ञान में मेजर कर सकते हैं क्योंकि परीक्षा में उनका ऊचाँ अंक था,” स्टैफोर्ड ने कहा।

लेकिन स्टेम क्षेत्र में काम करने वाले माता-पिता के साथ लड़कियों की कठिन विज्ञान पढ़ने की संभावना 11 प्रतिशत बढ़ जाती है।

जब शोधकर्ताओं ने जीवन, भौतिक और सामाजिक विज्ञानों को स्टेम की परिभाषा में शामिल किया तो संभावना 25 प्रतिशत बढ़ जाती है। यह प्रभाव केवल लड़कियों के लिए प्रासंगिक था, ज़मररो ने कहा।

“स्टेम से संबंधित नौकरियों को भविष्य में बढ़ेंगी,” ज़माररो ने कहा। “महिलाओं के लिए इन बढ़ते अवसरों तक पहुंचना न ही केवल महत्वपूर्ण है, लेकिन महिलाओं को हार्ड विज्ञान करने से वैज गैप को कम करने में मदद मिल सकती है।”

शोधकर्ताओं ने इन्कम डायनेमिक्स स्टडी पैनल से चाइल्ड डेवलपमेंट सप्लीमेंट और ट्रैन्ज़िशन टू अडल्ट्हुड प्राजेक्ट्स से डेटा का इस्तेमाल किया। पीएसआईडी 50 साल का एक सर्वेक्षण है जो 18,000 व्यक्तियों अौर उनके परिवारों के पूरे जीवन और उनके बच्चों की जिंदगी, स्वास्थ्य, धन, आय और रोजगार के आंकड़ों को एकत्रित करता हैं।

परिणाम, अर्कांसस विश्वविद्यालय के शिक्षा सुधार के माध्यम से काम कर रहे कागजात के रूप में प्रकाशित किए गया।

अधिक जानकारी:

अध्ययन: गणित प्रदर्शन में लिंग अंतराल, गणित की योग्यता और कॉलेज स्टेम शिक्षा: माता-पिता के व्यवसाय की भूमिका

फ्रैंक स्टैफोर्ड